Home आ रहा है त्योहारों से भरा महीना, जानें कब है कौन सा त्यौहार

आ रहा है त्योहारों से भरा महीना, जानें कब है कौन सा त्यौहार

  • by

त्यौहार ही त्योहार हैं इस महीने Month of Festivals

भारतीयों को इस महीने का हर वर्ष इन्तजार रहता है, आ रहा है त्योहारों से भरा वही महीना , जी हाँ हर वर्ष जिस माह में दिवाली होती है उसके आसपास इतने अधिक त्यौहार होते हैं कि आम आदमी के साथ साथ अच्छे अच्छे बिजनिस मेन भी इस महीने का इन्तजार करते हैं ।

इस वर्ष दिवाली नवम्बर 2020 में आ रही है तो आने वाले इस महीने में हो जाएगी त्योहारों की बरसात, और हर बिजनिस को जैसे पर लग जाएँगे ।

जानें कब है कौन सा त्यौहार 

Upcoming Festivals

इस महीने करवाचौथ, रमा एकादशी, धनतेरस, नरक चतुर्दशी, गोवर्धन पूजा, दिवाली, भाई दूज, छठ पूजा जैसे बड़े त्योहार पड़ेंगे। आइए जानते हैं नवंबर माह के व्रत एवं त्योहार की तारीखें

दिवाली महीने की शुरुआत में ही सबसे पहले महिलाओं का बहुत ही प्रसिद्द व्रत आता है जिसे सभी करवाचौथ के नाम से जानते हैं।

करवाचौथ Karvachauth – 4 नवम्बर 2020

माह की शुरुआत में करवा चौथ व्रत पड़ेगा जो 4 नवंबर को का व्रत रखा जाएगा। इस व्रत को सुहागिन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु और उनके स्वस्थ्य जीवन के लिए रखती हैं ।

अहोई अष्ठमी Ahoi Ashthami

करवा चौथ के चार दिन बाद और दिवाली से आठ दिन पहले महिलाएं अहोई अष्टमी का व्रत (Ahoi Ashthami) रखती हैं । इस बार यह व्रत रविवार 8 नवम्बर को पड रहा है Sunday 8 November.

यह व्रत संतान प्राप्ति और उनकी लंबी आयु के लिए किया जाता है, मान्यता है अहोई अष्टमी (Ahoi Ashthami) का व्रत करने से संतान की प्राप्ति होती है । हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार यह व्रत कार्तिक मास की कृष्‍ण पक्ष अष्‍टमी को आता है , इस व्रत को तारों को देखकर खोला जाता है ।

रमा एकादशी

रमा एकादशी व्रत कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को किया जाता है। इस साल 11 नवम्बर के दिन रमा एकादशी व्रत किया जायेगा। रमा एकादशी पर लक्ष्मी जी के साथ विष्णु भगवान का भी पूजन करने से धन वर्षा और शुभ लाभ की प्राप्ति होती है।

धनतेरस

धनतेरस का त्योहार 13 नवंबर को मनाया जाएगा। हिंदू पंचाग के अनुसार हर वर्ष कार्तिक मास की कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। इसे धन त्रयोदशी भी कहते हैं।

नरक चतुर्दशी

यह त्यौहार नरक चौदस या नर्क चतुर्दशी या नर्का पूजा के नाम से भी प्रसिद्ध है।  नरक चतुर्दशी को छोटी दीपावली भी कहते हैं इस साल यह त्योहार भी 14 नवंबर को ही मनाया जाएगा।

दिवाली

दिवाली हिन्दू धर्म का बड़ा महत्वपूर्ण त्योहार है। प्रकाश और खुशियों का यह त्योहार कार्तिक मास की अमावस्या तिथि के दिन हर साल मनाया जाता है। इस साल यह त्योहार 14 नवंबर शनिवार के दिन मनाया जाएगा। दिवाली के दिन मां लक्ष्मी और गणपति महाराज की पूजा की जाती है। इसी दिन नरक चतुर्दशी भी है।

गोवर्धन पूजा

गोवर्धन पूजा 15 नवंबर को है। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गोवर्धन पूजा का पर्व मनाया जाता है। इस दिन धन यानी गौ माता की पूजा की जाती है।

भाई दूज

भाई दूज नवंबर माह की 16 तारीख को मनाया जाएगा। भाई दूज पर्व, भाई-बहन के पवित्र रिश्ते और स्नेह का प्रतीक है। भाई दूज या भैया दूज पर्व को भाई टीका, यम द्वितीया, भ्रातृ द्वितीया आदि नामों से मनाया जाता है।

छठ पूजा

छठ पूजा को सूर्य षष्ठी के रूप में भी मनाया जाता है। यह त्योहार कार्तिक शुक्ल षष्ठी को मनाया जाता है। इस साल छठ पर्व 20 नवंबर को मनाया जाएगा।

देव उठनी एकादशी

देव उठनी एकादसी 25 नवंबर को है। देवउठानी का अर्थ है देव का उठना यानि इस दिन भगवान विष्णु अपनी योग निद्रा से उठ जाते हैं जिससे शुभ कार्यों का फिर से आरंभ हो जाता है।

कार्तिक पूर्णिमा

कार्तिक पूर्णिमा 30 नवंबर को है। हिन्दू पंचांग के अनुसार, कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष में आने वाली पूर्णिमा को कार्तिक पूर्णिमा कहते हैं। इस दिन महादेव जी ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का संहार किया था, इसलिए इसे ‘त्रिपुरी पूर्णिमा’ भी कहते हैं।