Home SARANSH सारांश Summary की परिभाषा

SARANSH सारांश Summary की परिभाषा

  • by

SARANSH KISE KAHTE HAIN

____________________________________________

ये भी पढ़ें:

Complete Hindi Vyakaran व्याकरण :

Bhasha भाषा,    Varn वर्ण and Varnmala वर्णमाला,   Shabd शब्द,   Vakya वाक्य ,   Sangya संज्ञा

Sarvnam सर्वनाम,   Ling लिंग,   Vachan वचन ,   alankar अलंकार,   visheshan विशेषण ,

pratyay प्रत्यय ,  Kriya क्रिया ,    Sandhi संधि,  karak कारक,    kal काल kaal

Vilom Shabd विलोम शब्द 

Paryayvachi Shabd पर्यायवाची शब्द 

_____________________________________________

सारांश (Summary) की परिभाषा-

सरल शब्दों में देखें तो शरांश का अर्थ है किसी भी विस्तार में वर्णित बात या कहानी का संक्षेप में मूल अंश । मूल अवतरण के भावों अथवा विचारों को संक्षेप में लिखने की क्रिया को ही ‘सारांश’ कहते हैं।

‘सारांश’ में सिर्फ उतनी ही बात संक्षेप में कहनी या लिखनी पड़ती है जो मुख्य हो। जिसको विस्तार में वर्णन करने की आवश्यकता नहीं हो। सारांश हमेशा मूल अवतरण से छोटा होता है।

उदाहरण

आपने कक्षाओ में विभिन्न कहानियाँ पढ़ी होंगी जो कि दो चार या अधिक पेज की होती हैं या कोई भी चलचित्र अर्थात फिल्म (MOVIE) देखी होंगीं जो लगभग दो से तीन घंटे की होती हैं , परन्तु जब हम उसके बारे में किसी को कुछ बताते अथवा लिखते हैं तो सिर्फ मुख्य बिन्दुओ का वर्णन करते हैं यही उसका सारांश होता है

 

____________________________________________

ये भी पढ़ें:

Complete Hindi Vyakaran व्याकरण :

Bhasha भाषा,    Varn वर्ण and Varnmala वर्णमाला,   Shabd शब्द,   Vakya वाक्य ,   Sangya संज्ञा

Sarvnam सर्वनाम,   Ling लिंग,   Vachan वचन ,   alankar अलंकार,   visheshan विशेषण ,

pratyay प्रत्यय ,  Kriya क्रिया ,    Sandhi संधि,  karak कारक,    kal काल kaal

Vilom Shabd विलोम शब्द 

Paryayvachi Shabd पर्यायवाची शब्द 

_____________________________________________