Home चलेगी कांग्रेस की आंधी, आ गई हैं प्रियंका गांधी

चलेगी कांग्रेस की आंधी, आ गई हैं प्रियंका गांधी

  • by
Share with Friends

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने एक बड़ा दांव चला है ।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी वाड्रा भी सक्रिय राजनीति में उतर गई हैं ।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को बुधवार को पार्टी महासचिव बनाया है।

ज्योतिरादित्य को पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी है और प्रियंका को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार सौंपा है।

राहुल गांधी ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश की राजनीति को बदलना चाहते हैं, कांग्रेस की विचारधारा को आगे बढ़ाने का काम नए महा सचिव करेंगे ।

राहुल ने ये भी कहा कि हमारी मायावती और अखिलेश जी से कोई भी दुश्मनी नहीं है, मैं मायावती जी और अखिलेश जी का आदर करता हूं । हम कांग्रेस पार्टी की विचारधारा के लिए लड़ रहे हैं ।

प्रियंका और ज्योतिरादित्य को मैनें यूपी दो महीने के लिए नहीं भेजा है, मैंने उन्हें मिशन दिया है कि वह पार्टी की सच्ची विचारधारा, गरीबों और कमजोरों की विचारधारा को आगे बढ़ाए. भरोसा है कि दोनों अच्छे से काम करेंगे।

इस फैसले से यूपी में नई तरह की राजनीति आएगी और इससे यूपी में नया उत्साह आएगा ।

मेरी बहन जो बहुत कर्मठ है कि वह अब वह मेरे साथ काम करेंगी । ज्योतिरादित्य भी बहुत डायनेमिक नेता है ।

ये भी हैं कुछ फेर बदल :–

पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल को संगठन महासचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई है वे कर्नाटक के प्रभारी की भूमिका भी निभाते रहेंगे।
संगठन महासचिव की जिम्मेदारी संभाल रहे अशोक गहलोत के राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने के बाद वेणुगोपाल की नियुक्ति की गई है।

उत्तर प्रदेश के लिए प्रभारी-महासचिव की भूमिका निभा रहे गुलाम नबी आजाद को अब हरियाणा की जिम्मेदारी दी गयी है।

उक्त फैसले के बाद विभिन्न नेताओं की अलग अलग प्रतिक्रिया आईं —

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने कहा कि लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस का यह फैसला बड़ा दांव साबित हो सकता है, इससे काँग्रेस को फायदा होगा प्रियंका भले ही सक्रिय राजनीति में अब आई हों लेकिन उनके पास राजनीति का लंबा अनुभव है ।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने तंज कसते हुए कहा कि इस फैसले से सार्वजनिक रूप से राहुल गांधी की नाकामी को मान लिया गया है और कांग्रेस एक परिवार की पार्टी है।

रॉबर्ड वाड्रा ने कांग्रेस के इस फैसले पर खुशी जताई । उन्होंने कहा कि मैं जिंदगी के हर मोड़ पर तुम्हारे साथ हूं ।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी पार्टी में कोई भी निर्णय इस बात के लिए नहीं होता कि एक व्यक्ति या एक परिवार क्या चाहता है, जबकि देश में ज्यादातर केस में कहा जाता है कि परिवार ही पार्टी है।

प्रशांत किशोर ने प्रियंका गांधी को सक्रिय राजनीति में प्रवेश करने के लिए शुभकामना और बधाई दी है।  किशोर ने ट्वीट संदेश में कहा है कि राजनीति में सबसे अधिक प्रतीक्षित एंट्रियों में से एक चेहरे का प्रवेश हो ही गया है।

राजद के नेता तेजस्वी यादव ने प्रियंका को सक्रिय राजनीति में आने पर बधाई दी और इसे कांग्रेस अध्यक्ष का अच्छा फैसला बताया।

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी प्रियंका गांधी को शुभकामना देते हुए इसे कांग्रेस के परिवारवाद की संज्ञा दी।

रेलमंत्री पीयुष गोयल ने कहा कि मोदी सरकार ने गरीबों के लिए रिजर्वेशन दिया है, लेकिन कांग्रेस पार्टी में केवल एक परिवार के लिए रिजर्वेशन है।

सोशल मीडिया पर भी छा गईं प्रियंका

ट्विटर, फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी प्रियंका गांधी को लेकर बहस छिड़ गई है।

भाजपा समर्थक कांग्रेस में  परिवार वाद का जहां आरोप लगा रहे है । कोंग्रेसियो में उत्साह नजर आ रहा है ।

शोशल मीडिया यूजर्स प्रियंका गांधी के राजनीति में आने के बाद भाजपा की राह को मुश्किल मानने लगे हैं।

फेसबुक में प्रियंका गांधी पर पोस्ट का तूफान आया हुआ है ।

अब चलेगी कांग्रेस की आंधी, आ गई हैं प्रियंका गांधी।

मीडिया में भी प्रियंका ही छाई रहीं 

टीवी चैनल पर भी प्रियंका गांधी को लेकर राजनीतिक बहस छिड़ गई है।
बनारस में प्रवासी भारतीय दिवस मीडिया में खास तवज्जो नहीं पा सका और प्रधानमंत्री के भाषण को भी प्रमुखता नहीं मिल पाई।

 

दादी और पिता की तरह दिखने वाली , बहुत ही सटीक टिप्पणी करने वाली प्रियंका गांधी क्या राजनीति के नए आयाम खड़ा कर पाएंगी ? इसका जबाब वक्त ही देगा ।