Home राष्ट्रीय खेल दिवस National Sports Day

राष्ट्रीय खेल दिवस National Sports Day

  • by
Share with Friends

राष्ट्रीय खेल दिवस (नेशनल स्पोर्ट्स डे ) National Sports Day

पुराने समय में खेल-कूद को कम महत्व दिया जाता था परंतु तेजी से बदलाव आता गया और खेल का प्रचलन बढ़ने लगा । आज हमारे देश में अच्छा खेल प्रदर्शन करने वाले काफी अच्छे खिलाड़ी राष्ट्र का नाम रोशन कर  रहे हैं।

भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस (नेशनल स्पोर्ट्स डे  National Sports Day) 29 अगस्त को मनाया जाता है।  भारत सरकार ने देश में खेलों का बढ़ावा देने के लिए नेशनल स्पोर्ट्स डे बनाया।  यह राष्ट्रीय खेल दिवस हॉकी के दिग्गज खिलाड़ी मेजर ध्यान चंद के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है।

क्यों मनाया जाता है नेशनल स्पोर्ट्स डे

मेजर ध्यान चंद के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। को को हॉकी का जादूगर भी कहा जाता है। जब वे खेलते थे तो मानो  कि मैदान में कोई जादू कर रहे हैं ।

मेजर ध्यान चंद के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। की उपलब्धियों को देखते हुए भारत सरकार ने 2012 में ध्यानचंद के जन्मदिन पर राष्ट्रीय खेल दिवस (नेशनल स्पोर्ट्स डे ) मनाने का एलान किया । तब से हर साल 29 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है।

मेजर ध्यान चंद के जन्मदिवस के रूप में मनाया जाता है। हॉकी के प्रसिद्ध खिलाड़ी थे। मेजर ध्यानचंद ने 1928, 1932 और 1936 ओलंपिक में भारत को गोल्ड मेडल हासिल करवाए थे। मेजर ध्यान चंद ने खेल जगत की दुनिया में भारत को उच्च स्थान तक पहुंचाया है। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करीयर में कुल 401 गोल किए थे। 1956 में ध्यानचंद को पद्म भूषण से नवाजा गया था।

कैसे  मनाया जाता है राष्ट्रीय खेल दिवस (नेशनल स्पोर्ट्स डे )

इस अवसर पर भारतीय खिलाड़ियों को राष्ट्रपति भवन में खेल पुरस्कार बांटे जाते हैं। भारत के राष्ट्रपति खुद देश के सबसे अच्छे प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को पुरस्कृत करके सम्मानित करते हैं।  राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार माना जाता है। भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर इस पुरस्कार का नाम रखा गया है।

खिलाड़ियों को उनके प्रदर्शन के अनुसार कई अन्य अवार्ड भी दिए जाते हैं जैसे नेशनल अवॉर्ड, अर्जुन अवॉर्ड आदि ।

हर साल भारत के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी को राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड दिया जाता है । यह पुरस्कार जीतने वाला खिलाड़ी किसी भी फील्ड का हो सकता है। इसके अलावा इस दिन अर्जुन पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कार भी बांटे जाते हैं।

इस दिन शिक्षण संस्थानों में विभिन्न खेल का आयोजन किया जाता है । और स्कूल, कॉलेज में भी अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को पुरुस्कार दिया जाता है।

खेलों का महत्व:

खेल खेलने से कई प्रकार की बीमारियों से छुटकारा मिलता है । एक अच्छा खिलाड़ी  उच्च स्तर तक जाकर देश का नाम रोशन करता है साथ ही साथ खेल रोजगार का जरिया भी बन सकता है।