Home पिता रोटी है पिता कपड़ा है पिता मकान है पिता नन्हे से परिन्दे का बड़ा सा आसमान है

पिता रोटी है पिता कपड़ा है पिता मकान है पिता नन्हे से परिन्दे का बड़ा सा आसमान है

  • by

पिता रोटी है पिता कपड़ा है पिता मकान है,
पिता नन्हे से परिन्दे का बड़ा सा आसमान है,

पिता है तो हर घर मे हर पल राग है,
पिता से माँ की चूड़ी है बिन्दी है सुहाग है,

पिता है तो बच्चों के सारे सपने है ,
पिता है तो बाज़ार में सारे खिलोने अपने है,

पिता दिवस या फादर्स डे ( Father’s Day ) कब क्यों कैसे

Pita roti hai, kapda hain, makan hai,
Pita nanhe se parinde ka bda aasmaan hai
Pita hai to ghar mai pratipal raag hai
Pita se maa ki chudi bindi or suhaag hai
Pita hai to bacho ke saare sapne hai
Pita hai to bazar ke sb khilone apne hai…

पिता जीवन है, संबल है, शक्ति है,

पिता सृष्टि के निर्माण की अभिव्यक्ति है,

पिता उंगली पकड़े बच्चे का सहारा है,

पिता कभी कुछ खंट्टा, कभी खारा है,

पिता पालन है, पोषण है,

परिवार का अनुशासन है,

पिता धौंस से चलने वाला प्रेम का प्रशासन है,

पिता रोटी है, कपड़ा है, मकान है,

पिता छोटे से परिंदे का बड़ा आसमान है,

पिता अप्रदर्शित अनन्त प्यार है,

पिता है तो बच्चों को इंतजार है,

पिता से ही बच्चों के ढेर सारे सपने हैं,

पिता है तो बाजार के सब खिलौने अपने हैं,

पिता से परिवार में प्रतिपल राग है,

पिता से ही मां की बिंदी और सुहाग है,

पिता परमात्मा की जगत के प्रति आसक्ति है,

पिता गृहस्थ आश्रम में उच्च स्थिति की भक्ति है,

पिता अपनी इच्छाओं का हनन और परिवार की पूर्ति है,

पिता रक्त में दिए हुए संस्कारों की मूर्ति है,

पिता एक जीवन को जीवन का दान है,

पिता दुनिया दिखाने का अहसान है,

पिता सुरक्षा है, सिर पर हाथ है,

पिता नहीं तो बचपन अनाथ है,

तो पिता से बड़ा अपना नाम करो,

पिता का अपमान नहीं, उन पर अभिमान करो ….. ❤

सुबह सवेरे घर से निकल जाते है
मेरे पापा दाना पानी लाते है ॥

खून पसीना एक करके कमाते है ॥
कभ जागते कभ सोते है पता नही ॥
किस वक्त कहा होते है पता नही ॥
एक अकेले घर का बोज उठाते है ॥
मेरे पापा दाना पानी लाते है ॥

खुद बीमार हो अपनी चिंता नही करते ॥
हम को छिक भी आये पापा बहुत डरते ॥
खुद दवाई लेने बागे जाते है ॥
मेरे पापा दाना पानी लाते है ॥

सब के पापा सुखी रहे खुशहाल रहे॥
चंचल बनके बच्चों की वो डाल रहे ॥
हर संकट से पापा हमें बचाते है ॥
मेरे पापा दाना पानी लाते है ॥

सात समन्दर पार से गुडीयों की बाज़ार से
अच्छी सी गुड़िया लाना गुड़िया चाहे ना लाना
पापा जल्दी आजाना ॥

Important Days and Dates in the Month of June