Home ATM कैश निकासी को सीमित करने और ATM शुल्क में वृद्धि की सिफारिश

ATM कैश निकासी को सीमित करने और ATM शुल्क में वृद्धि की सिफारिश

  • by

ATM कैश निकासी को 5,000 रुपये तक सीमित और ATM शुल्क में वृद्धि करने की सिफारिश

खबर के अनुसार ATM समीक्षा के लिए पिछले साल नियुक्त की गई समिति ने केंद्रीय बैंक RBI को अपनी सिफारिशें प्रस्तुत कीं हैं ।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा नियुक्त एक समिति ने देश भर में स्वचालित टेलर मशीनों (ATM) पर किए गए सभी लेनदेन के लिए शुल्क में वृद्धि की सिफारिश की है।

खबर के अनुसार समिति प्रति लेनदेन 5,000 रुपये की निकासी की सीमा को लागू करना चाहती है ।

दस लाख और उससे अधिक की आबादी वाले सभी केंद्रों में एटीएम में लेनदेन के लिए, समिति ने वित्तीय लेनदेन के लिए 15 रुपये से 16% या रु 2 बढ़ाकर 17 रु करने और गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रु .से बढ़ाकर 7 रुपए करने की की सिफारिश की है।

दस लाख से कम आबादी वाले अन्य सभी केंद्रों में एटीएम के उपयोग के लिए, समिति ने मिश्रित आधार पर शुल्क को 24%बढ़ाने की सिफारिश की है। वित्तीय लेनदेन के लिए शुल्क को रु15 से बढ़ाकर रु .18 तक और गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए रु 5 से बढ़ाकर रु 8 तक करने की शिफारिश की है ।

इसमें ब्रांच लेनदेन की तुलना में एटीएम की लागत प्रभावशीलता का भी अवलोकन किया गया है । “एटीएम के उपयोग की सुविधा के कारण, शाखा में इसकी तुलना में प्रति ग्राहक एटीएम पर निकासी लेनदेन की संख्या अधिक है, इसलिए शाखा लेनदेन के साथ एटीएम लेनदेन की लागत की तुलना उचित नहीं हो सकती है,” शिफारिश में कहा गया है ।

हालांकि RBI द्वारा सिफारिश की मंजूरी की अभी कोई खबर नहीं है ।