Home जन गण मन भारत का राष्ट्रगान 

जन गण मन भारत का राष्ट्रगान 

  • by

भारत का राष्ट्रगान

प्रख्यात कवि रविंद्रनाथ टैगोर ने राष्ट्रगान की रचना की थी। राष्ट्रगान मूल रूप से बांग्ला भाषा में लिखा गया था, लेकिन बाद में इसका हिंदी और अंग्रेजी में भी अनुवाद कराया गया और संविधान सभा द्वारा 24 जनवरी, 1950 को राष्ट्रगान स्वीकार किया गया।

Jan Gan Man is the national anthem of India. Written in Bengali, it is the first of five stanzas of a Brahmo hymn composed and scored by Nobel laureate Rabindranath Tagore. It was first sung at the Calcutta Session of the Indian National Congress on 27 December 1911.

जन-गण-मन अधिनायक जय हे
भारत भाग्य विधाता।

पंजाब-सिंधु-गुजरात-मराठा
द्राविड़-उत्कल-बंग

विंध्य हिमाचल यमुना गंगा
उच्छल जलधि तरंग

तव शुभ नामे जागे, तव शुभ आशीष मांगे
गाहे तव जय-गाथा।

जन-गण-मंगलदायक जय हे भारत भाग्य विधाता।
जय हे, जय हे, जय हे, जय जय जय जय हे।

इसे पहली बार 27 दिसंबर, 1911 को कोलकाता में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की बैठक में गाया गया था। राष्ट्रगान के पूरे संस्करण को गाने में कुल 52 सेकेंड का समय लगता है।

राष्ट्रगान जब भी कहीं बजाया जाता है तो देश के प्रत्येक नागरिक का ये कर्तव्य होता है कि वो अगर कहीं बैठा हुआ है तो उस जगह पर खड़ा हो जाए और सावधान मुद्रा में रहे।