Home तीन बैंकों से हटा पीसीए

तीन बैंकों से हटा पीसीए

  • by
Share with Friends

रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंक ऑफ इंडिया (BOI), बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM) और ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) को प्रॉम्प्ट करेक्टिव एक्शन (PCA) फ्रेमवर्क से बाहर कर दिया है ।

पीसीए फ्रेमवर्क में आने के कारण बैंक कर्ज देने के लिए  प्रतिबंधित हो जाते हैं , तथा खर्चे व भर्ती संबंधी कई अन्य चीजों पर भी बाधा आ जाती है ।आरबीआई ने सार्वजनिक क्षेत्र के 3 बैंकों को PCA की पाबंदियों से मुक्त किया

प्रॉम्प्ट करेक्टिव ऐक्शन (PCA) के तहत इन बैंकों के कर्ज बांटने, नई शाखाएं खोलने पर भी रोक लगी थी ।

आरबीआई ने गुरुवार को जारी बयान में कहा कि इन बैंकों के NPA का स्तर 6% से नीचे आया है जो अच्छा संकेत है ।

आरबीआई ने अब कहा  है कि ये  बैंक कैपिटल कंजर्वेशन बफर (CCB) समेत सभी मानकों को पूरा करते हैं अतः इन्हें पीसीए फ्रेमवर्क से बाहर निकालने का फैसला लिया गया है ।

साथ साथ  तीसरी तिमाही में इन बैंकों के एनपीए में गिरावट आई है अतः पीसीए हटाया गया है ।

आपको बता दें कि आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इन बैंकों को पीसीए फ्रेमवर्क से हटाने का फैसला किया है लेकिन पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल ने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया था।

वित्तीय सेवाओं के सचिव राजीव कुमार ने आरबीआई के इस फैसले पर कहा, “बैंकिंग सुधारों के लिए सरकार ने ‘चार आर’ की रणनीति अपनाई है। अच्छा प्रदर्शन करने वाले तीन सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों को पीसीए से बाहर निकाला जा रहा है। ऐसे में बैंकों को और जिम्मेदार बनना होगा।”

आरबीआई ने कहा कि लगातार निगरानी के बाद बैंक ऑफ इंडिया और बैंक ऑफ महाराष्ट्र को पीसीए फ्रेमवर्क से बाहर निकालने का फैसला लिया गया है। ये दोनों बैंक नियामक संबंधी मानकों को पूरा करते हैं ।