Home अंतर्राष्ट्रीय हिंदी दिवस कब क्यों कैसे

अंतर्राष्ट्रीय हिंदी दिवस कब क्यों कैसे

  • by

विश्व हिन्दी दिवस
(International Hindi Day)

 

हिंदी विश्व की सबसे ज्‍यादा तादाद में बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। हिन्दी बोलने एवं समझने वाली जनता कई करोड़ है। यह भाषा है हमारे सम्मान, स्वाभिमान और गर्व की। हिन्दी ने हमें विश्व में एक नई पहचान दिलाई है।

भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी को प्रति वर्ष विश्व हिन्दी दिवस (International Hindi Day) के रूप मनाये जाने की घोषणा की थी । उसके बाद से प्रति वर्ष विश्व हिन्दी दिवस (International Hindi Day) 10 जनवरी को मनाया जाता है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने विदेश में 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया था।

 

10 जनवरी को क्यों ?

विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को घोषित करने की वजह है कि प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी 1975  को नागपुर में आयोजित हुआ था 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया गया।

 

भारत में 14 सितंबर 1949 को हिंदी को देश की राजभाषा बनाया गया देश में 14 सितंबर को ही राष्ट्रीय हिंदी दिवस मनाया जाता है लेकिन विश्व में हिंदी को मान सम्मान और प्रमुख दर्जा दिलवाने के लिए उसका प्रसार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जरुरी है अतः अंतर्राष्ट्रीय हिंदी दिवस (International Hindi Day) मनाने की शुरुआत हुई।

देश के सभी कार्यालयों में हिंदी में काम के अलावा विश्व में हिन्दी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलनो की शुरुआत की गई ।

विश्व हिन्दी दिवस का उद्देश्य

विश्व हिन्दी दिवस का उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पैदा करना, हिन्दी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना, हिन्दी के लिए वातावरण निर्मित करना, हिन्दी के प्रति अनुराग पैदा करना, हिन्दी की दशा के लिए जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को विश्व भाषा के रूप में प्रस्तुत करना है विश्व हिन्दी दिवस ।

विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं। सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिन्दी में व्याख्यान आयोजित किये जाते हैं।

वर्ष 2006 के बाद से अंतर्राष्ट्रीय हिंदी दिवस (International Hindi Day) को बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाने लगा है। इस दिन कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। विदेशों में भारतीय दूतावास विश्व हिन्दी दिवस को विशेष आयोजन करते हैं। सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिन्दी के लिए अनूठे कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। विदेशों में मौजूद भारतीय दूतावासों में इस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है।

भारत में केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के विभिन्न विभागों में हिंदी भाषा में काम करना अनिवार्य है। अतः विभिन्न विभागों और इकाइयों में हिंदी अधिकारी, हिंदी अनुवादक, हिंदी सहायक, प्रबंधक जैसे पद बनाए गए है।

संसार की भाषाओं में हिंदी सबसे अधिक व्यवस्थित और सरल भाषा है। हिन्दी का साहित्य सभी दृष्टियों से समृद्ध है। हिन्दी भारत में आम जनता से जुड़ी भाषा है तथा आम जनता हिन्दी से जुड़ी हुई है। हिन्दी के विकास में विभिन्न रचनाकारों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

उत्तर भारत के राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखण्ड, उत्तराखण्ड, मध्य-प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और दिल्ली राज्यों की प्रमुख भाषा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *