Home 14 सितंबर क्यों है हिंदी दिवस ?

14 सितंबर क्यों है हिंदी दिवस ?

  • by

हमारे भारत देश मे अनेकों अनेक भाषाएं बोलियाँ प्रचलित हैं जिनमें से मुख्य है हिंदी भाषा जिसे सबसे अधिक क्षेत्र में बोला और समझा जाता है ।

हालांकि आजादी के समय शुरू में हिंदी के साथ ही अंग्रेजी को भी आधिकारिक भाषा के रूप में स्वीकार किया गया लेकिन भारत देश में 14 सितंबर 1949 को हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया।

 

1949 में आज ही के दिन संविधान सभा ने हिंदी को ही भारत की राजभाषा घोषित किया। हिंदी को देश की राजभाषा घोषित किए जाने के दिन ही हर साल हिंदी दिवस मनाने का भी फैसला किया गया ।

इसके बाबजूद राजभाषा घोषित होने के बाद भी चार साल बाद पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया।

एक भारतीय होने के नाते हमें हिंदी प्रेमी होना ही चाहिए आप देख सकते हैं जापान, चीन, रूस जैसे देश अपनी अपनी भाषाओं में ही पढ़ाई लिखाई करके आगे तरक्की कर रहे हैं जिससे साबित होता है तरक्की के लिए अंग्रेजी जरूरी नहीं ।

ज्यादातर लोग समझते हैं कि अंग्रेजी ही सबकुछ है ऐसा नहीं है ये हमारे देश का दुर्भाग्य है कि हमारे देश की शिक्षा व्यवस्था पूर्णतः हिंदी में नहीं है और एक स्तर से आगे जाने के बाद सारी पढ़ाई लिखाई अंग्रेजी में होती है ।

यदि हिंदी पर सभी देशवासी ध्यान दें तो हम जापानीज,चाइनीज,स्पेनिश,रशियन भाषा की तरह हिंदी को भी विश्वपटल पर अग्रणी श्रेणी में पहुंचा सकते हैं ।

तो आइए आज हिंदी दिवस के मौके पर अपने बच्चों को हिंदी के प्रति आकर्षित करें ।