Home क्या हो रहा है पाक पर एक्शन ?

क्या हो रहा है पाक पर एक्शन ?

  • by
Share with Friends

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान और पाकिस्तान परस्तों पर क्या एक्शन लिए जा रहा है आइए देखते हैं एक नजर में

अलगाववादियों की सुरक्षा छिनी :

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा था कि पाकिस्तान और आईएसआई से आर्थिक मदद लेने वालों की सरकारी सुरक्षा पर भी नए सिरे से विचार किया जाएगा ।

इसी बयान के बाद अब हुर्रियत नेताओं से सुरक्षा छीने जाने की खबर आई है

राजनाथ सिंह ने कहा था ‘’पाकिस्तान और आईएसआई से पैसा लेने वाले कुछ लोग कश्मीर में हैं । इन लोगों को मिली सुरक्षा पर पुनर्विचार किए जाने की जरूरत है । ’’

अब जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मीरवाइज उमर फारूक समेत पांच अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली है ।

इनमें फारूक के अलावा शबीर शाह, हाशिम कुरैशी, बिलाल लोन और अब्दुल गनी भट की सुरक्षा वापस ली गई है ।

अधिकारियों के अनुसार इन पांच नेताओं और अन्य अलगाववादियों को किसी भी चीज की आड़ में सुरक्षा मुहैया नहीं कराई जाएगी ।जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने यह कदम पुलवामा आतंकी हमले के बाद उठाया है ।

पाक को लाना है काली सूची में :-

भारत ने पाकिस्तान को काली सूची में डालकर इंटरनेशनल मदद रोकने की मुहिम तेज कर दी है ।

भारत पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ होने से जुड़े दस्तावेज अंतरराष्ट्रीय संस्था एफएटीएफ को देगा जिससे आतंकवाद समर्थक पाक को काली सूची में डालने की मांग की जा सके ।

अलग थलग करेंगे पाक को :

इसके अलावा हमले के बाद अब भारत ने पाकिस्तान को वैश्विक मंच पर अलग-थलग करने के लिए काम शुरू कर दिया है ।

आयात शुल्क में बढ़ोत्तरी :

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारत सरकार ने शनिवार कड़ा कदम उठाते हुये पाकिस्तान से आयातित सभी सामानों पर सीमाशुल्क तत्काल प्रभाव से बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दिया ।

पाक से आयात होने वाली सभी वस्‍तुओं पर 200 फीसदी का सीमा शुल्‍क तत्‍काल रूप से लागू हो गया है।

वापस लिया MFN का दर्जा :

भारत सरकार ने इससे पहले पाकिस्तान को दिये गये ‘सबसे तरजीही देश’ Most Favoured Nation (MFN ) का दर्जा वापस ले लिया है ।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट कर कहा, ‘‘पुलवामा की घटना के बाद भारत ने पाकिस्तान से व्यापार के लिहाज से सबसे तरजीही देश का दर्जा वापस ले लिया है । इसके बाद पाकिस्तान से भारत में आयात किए जाने वाले सभी तरह के सामान पर सीमाशुल्क तत्काल प्रभाव से बढ़ाकर 200 प्रतिशत कर दिया गया है ’।

पाकिस्तान प्रमुख तौर पर भारत को ताजे फल, सीमेंट, खनिज , अयस्क और तैयार चमड़ा निर्यात करता है ।

सीमाशुल्क में बढ़ोत्तरी से पाकिस्तान से भारत को किया जाने वाले निर्यात पर काफी बुरा असर पड़ेगा ।

और अब आज जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अलगाववादी नेताओं मीरवाइज उमर फारुक के अलावा अब्दुल घनी भट्ट, बिलाल लोन, हाशिम कुरैशी और शबीर शाह की सुरक्षा वापस ली है।