Home हरियाणा में फंसी भाजपा , अन्य का बढ़ा महत्व

हरियाणा में फंसी भाजपा , अन्य का बढ़ा महत्व

  • by
Share with Friends

हरियाणा विधानसभा चुनाव परिणाम में भारतीय जनता पार्टी को कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिली है ।

खबर के मुताबिक कांग्रेस की सीटों की संख्या बढ़ी है और बढ़कर 31 हो गई है , वहीं भाजपा को  सीटों के नुकसान होने से 40 सीट पर जगह मिली है ।

कांग्रेस को इस बार लगभग 16 सीटों का फायदा होते हुए दिख रहा है । आए हुए नतीजों के अनुसार कोई भी पार्टी पूर्ण बहुमत में नहीं है ।

ऐसे में दुष्यंत चौटाला की पार्टी जेजेपी 10 सीटों के साथ अपना रुख जिधर की ओर करेगी हवा लगभग उधर की तरफ मुड़ सकती है ।

हालाँकि ऐसे मामलों में जोड़ तोड़ और विधायक जुटाने में भाजपा के अमित शाह का कोई तोड़ नहीं है और उम्मीद है कि वो हरियाणा में भी कुछ न कुछ जोड़ तोड़ कर ही लेंगे।

कांग्रेस ने समर्थन के लिए अन्य से संपर्क किया है, सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस ने जेजेपी को डिप्टी सीएम पद का ऑफर दिया है ।

वहीं, जेजेपी के नेता दुष्यंत चौटाला का कहना है कि उनकी पार्टी नई सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाने वाली है ।

लेकिन अभी भी काँग्रेस और जे जेपी को जोड़कर भी 45 का बहुमत का आँकड़ा मिल पाना मुश्किल है अतः अन्य को भी मनाना होगा जो एक अस्थिर सरकार देगा ।

और भाजपा को केवल 5 सीटों की ही दरकार है जो अन्य के खाते से आसानी से जुटाए जा सकते हैं ।
 
हालाँकि सत्तारूढ़ बीजेपी को दोनों राज्यों महाराष्ट्र और हरियाणा में बड़ा झटका लगता दिखाई दे रहा है। हरियाणा में पार्टी बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ों से पीछे है ।

दोनों राज्यों के नतीजों के बाद पीएम मोदी और अमित शाह बीजेपी दफ्तर पहुंचे , यहां अमित शाह और पीएम ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया ।

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में हमें पिछले चुनाव में पूर्ण बहुमत नहीं मिला था, हरियाणा में सिर्फ 2 सीटों का बहुमत था, इसके बावजूद भी दोनों मुख्यमंत्रियों ने सबको साथ लेकर दोनों राज्यों की जो सेवा की और अविरत कार्य करते रहे, ये उसी का परिणाम है कि उनपर जनता ने दोबारा अपना विश्वास जताया है।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं हरियाणा और महाराष्ट्र के लोगों को विश्वास दिलाता हूं कि हम उनकी सेवा करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे ।