Home नरेन्द्र मोदी

नरेन्द्र मोदी

  • by
Share with Friends

नरेन्द्र मोदी

Narendra Modi

पूरा नाम : नरेंद्र दामोदर दास मोदी

जन्म : 17 सितंबर 1950

माता का नाम:  हीराबेन मोदी

पिता का नाम : दामोदरदास मूलचंद मोदी

 

नरेन्द्र मोदी का जन्म महेसाना जिला के वडनगर ग्राम में हीराबेन मोदी और दामोदरदास मूलचन्द मोदी के एक मध्यम-वर्गीय परिवार में हुआ, अपने माता-पिता की कुल छ: सन्तानों में तीसरे पुत्र नरेन्द्र  ने बचपन में चाय बेचने में अपने पिता की मदद की ।

मोदी का परिवार ‘तेली’ समुदाय से है  जिसे अन्य पिछड़ा वर्ग के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

आठ साल की उम्र में वे आरएसएस से  जुड़े। स्नातक होने के बाद उन्होंने घर छोड़ दिया। मोदी ने दो साल तक भारत भर में यात्रा की, और कई धार्मिक केंद्रों का दौरा किया।

उनका विवाह जसोदा बेन चमनलाल के साथ हुआ, तब  वह मात्र 17 वर्ष के थे।

शादी के कुछ बरसों बाद नरेन्द्र मोदी ने घर त्याग दिया ।

1971 में वह आरएसएस के लिए पूर्णकालिक कार्यकर्ता बन गए। 1975 में देश भर में आपातकाल की स्थिति के दौरान उन्हें कुछ समय के लिए छिपना पड़ा।

1985 में वे बीजेपी से जुड़े और 2001 तक पार्टी के कई पदों पर कार्य किया, जहाँ से वे धीरे धीरे सचिव के पद पर पहुंचे।

सोमनाथ से लेकर अयोध्या तक की रथयात्रा जिसमें आडवाणी के प्रमुख सारथी की मूमिका में नरेन्द्र का मुख्य सहयोग रहा।

इसी प्रकार कन्याकुमारी से लेकर सुदूर उत्तर में स्थित काश्मीर तक की मुरली मनोहर जोशी की दूसरी रथ यात्रा भी नरेन्द्र मोदी की ही देखरेख में आयोजित हुई।

2001 में भुज में भूकंप के बाद गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल के असफल स्वास्थ्य और ख़राब सार्वजनिक छवि के कारण नरेंद्र मोदी को 2001 में गुजरात के मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया।

उन्हें उनके काम के कारण गुजरात की जनता ने लगातार 4 बार (2001 से 2014 तक) मुख्यमन्त्री चुना I

2002 के गुजरात दंगों में उनके प्रशासन को कठोर माना गया है, इस दौरान उनके संचालन की आलोचना भी हुई

हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त विशेष जांच दल (एसआईटी) को अभियोजन पक्ष की कार्यवाही शुरू करने के लिए कोई सबूत नहीं मिला।

मुख्यमंत्री के तौर पर उनकी नीतियों को आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए श्रेय दिया गया।

उनके नेतृत्व में भारत की प्रमुख विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी ने 2014 का लोकसभा चुनाव लड़ा और 282 सीटें जीतकर अभूतपूर्व सफलता प्राप्त की।

उन्होंने उत्तर प्रदेश के वाराणसी एवं गुजरात के वडोदरा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ा और दोनों जगह से जीत दर्ज़ की।

बाद में उन्होंने वाराणसी को चुना और बड़ोदरा से इस्तीफा दे दिया ।

उन्होंने अफसरशाही में कई सुधार किये जैसे योजना आयोग को हटाकर नीति आयोग का गठन किया।

गुजरात विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त नरेन्द्र मोदी विकास पुरुष के नाम से जाने जाते हैं

वर्तमान समय में देश के सबसे लोकप्रिय नेताओं में से हैं। उन्हें ‘नमो’ नाम से भी जाना जाता है।

टाइम पत्रिका ने मोदी को पर्सन ऑफ़ द ईयर 2013 के 42 उम्मीदवारों की सूची में शामिल किया ।

नरेंद्र मोदी भारत के 14वें प्रधानमंत्री बने । साल 2014 में 26 मई को उन्होंने प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी।

वे भारत के प्रधानमन्त्री पद पर आसीन होने वाले स्वतंत्र भारत में जन्मे प्रथम व्यक्ति हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.