Home जुम्मे की नमाज के दौरान हमला

जुम्मे की नमाज के दौरान हमला

  • by

न्यूजीलैंड में आतंकियों द्वारा मस्जिदों में घुसकर की गई अंधा धुंध फायरिंग ।

इस घटना में 49 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई अन्‍य लोग घायल हो गए ।

पुलिस ने तीन लोग गिरफ्तार किए हैं इन लोगों में से एक 20 वर्षीय ऑस्‍ट्रेलियाई नागरिक है ।

हमले में बांग्लादेश की क्रिकेट टीम बाल बाल बची , टीम का काल से मैच था जो कि रद्द कर दिया गया है ।

खबर के अनुसार बांग्लादेश की क्रिकेट टीम उस समय मस्जिद के नजदीक ही थी । बांग्लादेश टीम के खिलाड़ी मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिये प्रवेश करने वाले थे लेकिन वे बाल बाल बचे और सुरक्षित हैं ।

हमलावर ने शुक्रवार की नमाज के वक्‍त हमला किया जिस वक्‍त वहां काफी लोग थे । उसने वारदात का वीडियो भी बनाया है ।

टीवी खबरों के अनुसार उसने पहले ही अपने फेसबुक एकाउंट से हमले को लाइव दिखाने के संकेत दिए थे हालांकि ये उसने साफ नहीं किया कि क्या दिखाएगा ।

सामने आए वीडियो में साफ दिख रहा है कि वो मस्जिद में घुस और तड़ातड़ फायरिंग कर लोगों को मौत की नींद सुला दिया ।

उसने वहां से निकलने के बाद भी वहां से गुजरने वाले लोगों पर गोलीबारी की ।

इस हमले में 49 लोगों की मौत हो गई जबकि 20 से अधिक घायल बताए जा रहे हैं ।

इस हमले के पीछे नस्‍लीय भेद भाव बताई जा रही है प्रधानमंत्री जेसिंडा एर्डर्न ने इसे न्यूजीलैंड के इतिहास की सबसे खराब घटना बताया है ।

2 मस्जिदों में हुए हमले का मकसद बदला लेना था। ऑस्ट्रेलिया के 28 वर्षीय ब्रेंटन टैरंट ने गोलीबारी से पहले लिखा था कि उसे प्रवासियों से सख्त नफरत है।

यूरोप में मुसलमानों द्वारा किए गए हमलों से वह काफी गुस्से में था और बदला लेना चाहता था ।

गोलियां बरसाते हुए उसने खूनी खेल की लाइव स्ट्रीमिंग भी की ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूजीलैंड को पत्र द्वारा निर्दोष लोगों की मौत पर गहरी संवेदना एवं दुख प्रकट किया ।

विभिन्‍न स्रोतों से प्राप्‍त जानकारी के अनुसार भारतीय मूल के 9 लोग लापता हैं । इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है ।

एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी के अनुसार घटना में दो भारतीयों की मौत हुई है जबकि तीसरा अस्‍पताल में जिंदगी है ।